Breaking News

ई-वीजा की वैधता की अवधि बढ़ाकर 10 साल की जाए: नीति आयोग

नयी दिल्ली। नीति आयोग ने प्रस्ताव दिया है कि ई वीज़ा की वैधता बढ़ाकर 10 साल की जाये और देश में अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए ई मेडिकल वीजा पर आने वाले पर्यटकों की वार्षिक संख्या में वृद्धि की जानी चाहिए। ई कांफ्रेंस वीज़ा को छोड़कर ई वीज़ा की अवधि भारत में प्रवेश करने की तिथि से 60 दिन होती है। ई कांफ्रेंस वीज़ा की वैधता 30 दिनों की होती है। ई पर्यटक वीज़ा और ई बिजनेस वीज़ा पर दोहरे प्रवेश की अनुमति है। ई मेडिकल वीज़ा और ई मेडिकल अटेंडेंट वीज़ा पर तीन दफा प्रवेश की अनुमति है। केवल कांफ्रेंस वीजा पर एक दफा प्रवेश की अनुमति है।

जनवरी से दिसंबर के बीच एक कैलेंडर वर्ष में ई वीज़ा का लाभ तीन दफा लिया जा सकता हे। नीति आयोग ने अपनी रिपोर्ट ‘द स्ट्रेटजी फॉर न्यू इंडिया@75’ में कहा है कि ई वीज़ा की सुविधा आरंभ करने के बाद भी पर्यटक वीज़ा आवेदन करने की प्रकिया को बोझिल समझते हैं। रिपोर्ट में बताया कि विदेशों में हमारे वाणिज्य दूतावास के जरिये सूचना अभियान शुरू करके वैश्विक स्तर पर ई वीज़ा के बारे में जागरूकता लायी जाये। ई वीज़ा व्यवस्था को लेकर बैठकों, प्रोत्साहन, सम्मेलनों और प्रदर्शनियों से पर्यटकों को आकर्षित करना जरूरी है। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए ई वीज़ा की वैधता अवधि 10 साल बढ़ायी जानी चाहिए।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *