Breaking News

हाईकोर्ट ने यौन उत्पीड़न के आरोपी को इस ‘अनोखी शर्त’

छेड़छाड़ मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने एक आरोपी को अग्रिम जमानत देते हुए 50 पेड़ लगाने का आदेश दिया है। उसे पूर्वी दिल्ली के सरकारी स्कूल में यह पेड़ लगाने होंगे। अदालत ने स्कूल के प्रधानाचार्य को वृक्षारोपण की निगरानी करने और मामले के जांच अधिकारी को इस आदेश का पालन होने के बारे में रिपोर्ट पेश करने का आदेश भी दिया है।दरअसल, यौन उत्पीड़न और लड़की का रास्ता रोकने के एक आरोपी ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर अग्रिम जमानत की मांग की थी। उसने हाईकोर्ट को बताया कि इस मामले में सह आरोपी को अदालत से नियमित जमानत मिल गई है, इसलिए उसे भी अब अग्रिम जमानत दी जाए। इनके खिलाफ दिल्ली पुलिस ने पिछले साल कनॉट प्लेस थाने में मुकदमा दर्ज किया था।जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस सुनील गौड़ ने आरोपी को पूर्वी दिल्ली के चंद्र नगर इलाके के सरकारी स्कूल और इसके आसपास दो सप्ताह के भीतर 50 पेड़ लगाने का आदेश दिया है। उन्होंने आरोपी को 25 नीम के और 25 पीपल के पेड़ लगाने का आदेश दिया। इसके अलावा दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि यदि आरोपी अग्रिम जमानत का फायदा उठाकर गवाहों को प्रभावित करता है या साक्ष्यों से छेड़छाड़ करता है तो पुलिस के पास उसकी अग्रिम जमानत को रद्द कराने की स्वतंत्रता होगी। इससे पहले हाईकोर्ट ने 17 दिसंबर, 2018 के अंतरिम आदेश देते हुए आरोपी के गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी। 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *