लालू यादव पहुंचे बिरसा मुंडा जेल, सीबीआई कोर्ट में किया सरेंडर

लालू यादव ने न्यायधीश एसएस प्रसाद के समक्ष आत्मसमर्पण किया है. साथ ही कोर्ट के आदेश के अनुसार उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार भेजा गया है.
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाला मामले में अपनी सजा काटने के लिए गुरुवार को एक विशेष केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कोर्ट के समक्ष सरेंडर कर दिया. लालू यादव ने न्यायधीश एसएस प्रसाद के समक्ष आत्मसमर्पण किया है. साथ ही कोर्ट के आदेश के अनुसार उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार भेजा गया है.
लालू यादव सीबीआई कोर्ट में सरेंडर करने के बाद बिरसा मुंडा जेल पहुंच गए हैं. वहीं, बताया जा रहा है कि कोर्ट ने आदेश के अनुसार यहां से उन्हें राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में इलाज के लिए शिफ्ट किया जा सकता है.
आपको बतादें कि झारखंड उच्च न्यायालय ने लालू यादव 24 अगस्त को 30 अगस्त तक आत्मसमर्पण करने का निर्देश दिया था. वह 11 मई से अंतरिम जमानत पर थे. अब लालू यादव 111 दिन के बाद फिर से जेल पहुंच गए हैं.
हालांकि लालू यादव कोर्ट में सरेंडर करने से पहले बयान दिया था कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा है. लोअर कोर्ट से उन्हें सजा मिली है लेकिन अभी सुप्रीम कोर्ट भी है. उन्होंने कहा कि न्यायलय पर पूरा विश्वास है आज न कल उन्हें न्याय मिल जाएगा.
वहीं, लालू परिवार पर लगातार आ रही विपत्तियों पर उन्होंने कहा कि देश तानाशाही की ओर अग्रसर है. सभी गैरभाजपा नेता को जेल भेजने की साजिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारे लिए जो संकट खड़े कर रहे हैं, वह खुद संकट में फंस जाएंगे.
वहीं, आईआरसीटीसी मामले में राबड़ी देवी और तेजस्वी पेश होने के लिए दिल्ली पहुंच गए हैं. इस मामले में लालू यादव ने कहा कि हमारे पूरे परिवार को फंसाने के लिए केस किया गया है. उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक है और चुनाव में आजादी मिले इसलिए लालू परिवार को घेरने, इंगेज करने और हमें तनाव में रखने के लिए केस में फंसाया जा रहा है. लालू परिवार के इंगेज रहने से उन्हें आजादी मिलेगी ऐसा वह सोचते हैं यह गलत है.

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *