बॉलीवुड : Me Too तूफ़ान ने मचाई तबाही, आफ़त आई बड़े बजट की फ़िल्मों पर

बॉलीवुड में इन दिनों Me Too आंदोलन ने तूफ़ान मचाया हुआ है। रोज़ नए खुलासे हो रहे हैं। रोज़ नए सेलेब्रिटीज़ चपटे में आ रहे हैं। कई दिग्गज भी निशाने पर हैं। यौन शोषण या उत्पीड़न की शिकार रहीं महिलाएं अब खुलकर बोल रही हैं। Me Too को तमाम एक्टर्स और फ़िल्ममेकर्स का सपोर्ट मिल रहा है। वो ऐसी फ़िल्मों और फ़िल्मकारों से दूरी बना रहे हैं, जो यौन उत्पीड़न के मामलों में फंसे हैं या उन पर किसी महिला ने कोई संगीन आरोप लगाया है। सेलेब्रिटीज़ के इस स्टैंड के चलते कुछ फ़िल्मों का भविष्य अधर में लटक गया है।
सुपर 30
रितिक रोशन की यह फ़िल्म अगले साल जनवरी में रिलीज़ होने वाली थी। सुपर 30 को विकास बहल ने डायरेक्ट किया है। विकास पर अपनी ही एक सहकर्मी के साथ यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा हुआ है। मीटू ने जब रफ़्तार पकड़ी तो रितिक रोशन ने ट्विटर पर अपना स्टैंड रखते हुए कहा कि उनके लिए ऐसे लोगों के साथ काम करना मुश्किल है, जिन पर यौन दुराचार का आरोप लगा हुआ है। रितिक ने अपने निर्माताओं से भी दरख़्वास्त की कि वो इस मामले में सभी तथ्यों के मद्देनज़र कोई कड़ा क़दम उठाएं। ख़बरें आ रही हैं कि इस वजह से फ़िल्म की रिलीज़ आगे खिसकाई जा सकती है। सुपर 30 की काफ़ी शूटिंग हो चुकी है। अब देखना यह है कि विकास बहल की जगह कौन निर्देशक लेगा। मीटू के समर्थन में ऐसा स्टैंड लेने वाले रितिक पहले सुपरस्टार हैं।
आमिर ख़ान ने मीटू आंदोलन के समर्थन में बयान जारी करते हुए यौन उत्पीड़न के आरोपी निर्देशक सुभाष कपूर की फ़िल्म मुगल से पल्ला झाड़ लिया। सुभाष कपूर पर एक्टर गीतिका त्यागी ने कुछ साल पहले यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। मामला अभी न्यायाधीन है। इस फ़िल्म की कहानी म्यूज़िक मुगल गुलशन कुमार की ज़िंदगी पर आधारित थी और इसका निर्माण गुलशन के बेटे भूषण कुमार कर रहे थे। आमिर इस फ़िल्म से बतौर निर्माता ही जुड़े थे। हालांकि ख़बरें ये भी आयी थीं कि आमिर फ़िल्म में मुख्य भूमिका भी निभा सकते हैं। इस फ़िल्म में पहले अक्षय कुमार को लिया गया था, मगर उन्होंने फ़िल्म छोड़ दी थी। संयोग देखिए कि फ़िल्म के निर्माता भूषण कुमार पर भी किसी अज्ञात महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। आमिर के जाने के बाद मुगल का भविष्य संकट में पड़ गया है।
इस फ़िल्म की 70 फीसदी शूटिंग हो चुकी है। जैसलमेर के बाद इसका अगला शेड्यूल मुंबई में शुरू होना था, मगर अक्षय कुमार ने निर्देशक साजिद ख़ान पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद इसकी शूटिंग कैंसिल कर दी। लगभग 30 साल के करियर में यह पहली बार हुआ, जब अक्षय ने किसी फ़िल्म की शूटिंग कैंसिल की हो। साजिद पर कई महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं। इन आरोपों की संजीदगी को देखते हुए साजिद ने ख़ुद फ़िल्म के निर्देशन की कमान छोड़ दी है। उन्होंने ट्वीटर पर इसका एलान किया। साजिद काफ़ी वक़्त बाद निर्देशन में लौटे थे, मगर मीटू की वजह से यह मौक़ा उनके हाथ से जा चुका है। इसी फ़िल्म के कलाकार नाना पाटेकर पर भी यौन उत्पीड़न का आरोप है। दरअसल, बॉलीवुड में Me Too की शुरुआत ही नाना पर तनुश्री दत्ता के आरोपों के बाद हुई है। सुनने में आया है कि निर्माता नाना को भी फ़िल्म से रिप्लेस कर सकते हैं।
स्त्री में भूत का किरदार निभाने वाले एक्ट्रेस फ्लोरा सैनी ने निर्माता गौरांग दोषी पर हिंसा का आरोप लगाया है। आरोपों के मुताबिक 2007 में जब वो गौरांग को डेट कर रही थीं तो गौरांग ने उनको फिजिकली एब्यूज़ किया था। इसको लेकर फ्लोरा ने फेसबुक पर एक लंबी पोस्ट लिखी थी। फ्लोरा के आरोपों के बाद ख़बर है कि ऐश्वर्या राय बच्चन ने गुलाब जामुन से हाथ खींच लिये, जिसे गौरांग प्रोड्यूस कर रहे थे। इस फ़िल्म में ऐश्वर्या के साथ अभिषेक बच्चन लीड रोल में थे। ग़ौर करने वाली बात यह है कि 2007 में जब फ्लोरा ने गौरांग पर ये आरोप लगाये थे, उस वक़्त भी ऐश्वर्या ने उनके पक्ष में आवाज़ उठायी थी, जबकि गौरांग अमिताभ बच्चन के साथ आंखें और दीवार जैसी फ़िल्में बना चुके थे।
प्यार का पंचनामा करने वाले निर्देशक लव रंजन ने इसी साल सोनू के टीटू की स्वीटी जैसी बेहद सफल फ़िल्म दी है। एक एक्ट्रेस ने लव रंजन पर आरोप लगाया है कि प्यार का पंचनामा की ऑडिशन के दौरान उन्होंने किस तरह उसका यौन उत्पीड़न किया था। एक इंटरव्यू में इस एक्ट्रेस ने बताया है कि लव ने ऑडिशन के दौरान उसे सारे कपड़े उतारने के लिए कहा था, ताकि वो उसकी बॉडी देख सकें, क्योंकि यह फ़िल्म की आवश्यकता थी। एक्ट्रेस को फ़िल्म में बिकिनी पहननी थी। लव ने एक्ट्रेस से कुछ बेहद निजी सवाल भी पूछे, जिनका फ़िल्म या किरदार से कोई लेना-देना नहीं था। लव को लेकर हुए इन खुलासों के चंद घंटों बाद ही अजय देवगन ने एक स्टेटमेंट जारी करके अपना स्टैंड साफ़ कर दिया कि उनकी कंपनी ऐसे किसी शख़्स का साथ नहीं देगी, जिसने एक भी महिला को प्रताड़ित किया हो। अजय के इस बयान के बाद उन दो फ़िल्मों का भविष्य ख़तरे में है, जिन्हें लव रंजन डायरेक्ट करने वाले थे और अजय लीड में थे। इनमें से एक फ़िल्म का शीर्षक दे दे प्यार दे है।
नेटफ्लिक्स ओरिजनल वेब सीरीज़ सेक्रेड गेम्स का दूसरा सीज़न भी मीटू आंदोलन की वजह खटाई में पड़ता दिखायी दे रहा है। सेक्रेड गेम्स से विक्रमादित्य मोटवाने बतौर निर्देशक जुड़े हैं जो हाल ही में विकास बहल प्रकरण को लेकर मीटू की चपेट में आ चुके हैं। इस सीरीज़ को लिखने वाले लेखक वरुण ग्रोवर पर भी यौन उत्पीड़न के आरोप लगे। हालांकि वरुण के मुकम्मल जवाब देने के बाद महिला ने अपने ट्वीट्स डिलीट कर दिये। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नेटफ्लिक्स वाले सीरीज़ को लेकर पुनर्विचार कर रहे हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *