Monday, May 25Welcome Guest !
Shadow

Exclusive News

अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए सरकार की रणनीति

अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए सरकार की रणनीति

Exclusive News
Exclusive News (DiD News): वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने की आगे की कार्रवाई कोविड-19 की स्थिति पर निर्भर करेगी। उन्होंने यह बात भारतीय रिजर्व बैंक के इस अनुमान के बाद कही है कि 2020-21 में भारत की अर्थव्यस्था में संकुचन होगा। कोरोना वायरस संकट के बीच अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए सरकार पहले ही 20.97 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा कर चुकी हैं। इनमें रिजर्व बैंक द्वारा 17 मई तक उठाए गए 8.01 लाख करोड़ रुपये की तरलता संवर्धन के उपाय भी शामिल हैं। सीतारमण ने भाजपा नेता से नलिन कोहली के साथ संवाद में कहा कि आर्थिक वृद्धि दर का ‘वास्तविक आकलन’ करना अभी संभव नहीं है, क्योंकि अभी यह बता पाना मुश्किल है कि यह महामारी कब शांम होती है। वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘मैं दरवाजे कतई नहीं बंद कर रही हूं। मैं उद्योग से जानकारी लेना जारी रखूंगी, हमने जो
लॉकडाउन लागू करने पर सरकार का बड़ा बयान

लॉकडाउन लागू करने पर सरकार का बड़ा बयान

Exclusive News
दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के कारण देश में इस संक्रमण से होने वाली मौतें कुछ ही इलाकों में खासकर शहरी इलाकों तक सीमित रही। सरकार ने  यह जानकारी दी। सरकार ने कहा कि अगर लॉकडाउन लागू नहीं किया जाता तो कोविड-19 के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी होती। इसने कहा कि लॉकडाउन से पहले जहां मामले दोगुना होने में औसतन तीन दिन से अधिक समय लगता था, वहीं इसके बाद अब यह समय 13 दिन से अधिक हो गया है।नीति आयोग के सदस्य वी के पॉल ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘ इतना विशाल देश होने के बावजूद, लॉकडाउन के कारण वायरस का संक्रमण कुछ इलाकों तक सीमित रहा। ’ उन्होंने कहा कि बृहस्पतिवार तक संक्रमण के ​जितने भी मामले सामने आये हैं, उनमें से करीब 80 फीसदी पांच राज्यों—महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली एवं मध्य प्रदेश— में हैं और 90 फीसदी मामले दस राजयों में है। पॉल ने कहा कहा क
कीर्तिनगर में लगी आग, सैकड़ों झुग्गी खाक….

कीर्तिनगर में लगी आग, सैकड़ों झुग्गी खाक….

Exclusive News, दिल्ली / एनसीआर
नई दिल्ली  (DiD News): नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र के अर्तगत मोतीनगर विधान सभा के कीर्तिनगर स्लम क्षेत्र चुना भट्ठी रेलवे लाईन के किनारे बसे झुगियों में वीरवार रात करीब ग्यारह बजे के लगभग आग लग गई। झुगियों में आग लगने के उपरांत उसमें ररवे छोटे बड़े गैस सिलिंडर में विस्फोट के कारण आग और भड़कती चली गई । प्रत्यक्ष दर्शीयों के अनुसार संर्कीण गलियों के कारण फायर बिग्रेड के वाहनों को धटनास्थल तक पहुँचने में काफी मशक्त करना पड़ा । फायर विग्रेडकर्मी पाइप के माध्यम से वहाँ तक पहुंचकर आग पर नियंत्रण पाया । जब तक फायर कर्मी नहीं पहुँचे स्थानीय निवासियो ने बाल्टी से पानी डालकर आग पर नियंत्रण पाने का प्रयास किया लेकिन भयावह आग पर नियंत्रण पाने में वे असफल रहे । शुक्रवार सुबह मोतीनगर क्षेत्र के विधायक शिवचरण गोयल एस डी एम के साथ धटना स्थल का दौड़ा किया और पीड़तों के भोजन व अन्य सरकारी सुविधा उपलब्ध करान
कोरोना से अर्थव्यवस्था को हुआ काफी नुकसान

कोरोना से अर्थव्यवस्था को हुआ काफी नुकसान

Exclusive News, देश – विदेश, राजनीति
देश-विदेश (DiD News): कोरोना संकट को देखते हुए मोदी सरकार ने करीब 21 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था। जिसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चरणबद्ध तरीके से देश के सामने इस पैकेज का ब्यौरा रखा। अब इसी पैकेज को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) गवर्नर शक्तिकांत दास की ओर से आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ। सरकार की आय पर भी असर हुआ। रेपो रेट में 0.4 प्रतिशत की कटौती की गई। रिवर्स रेपो रेट में कोई कटौती नहीं की गई है। लॉकडाउन में मांग और उत्पाद में कमी आई है। बैंको को अब कम ब्याज पर रिजर्व बैंक लोन देगा। आरबीआई ने महंगाई घटने की उम्मीद जताई। निर्यातकों को भी बड़ी मदद देने का ऐलान किया गया। कैश एक्सचेंज में 15 हजार करोड़ दिए जाएंगे।
पश्चिम बंगाल को PM मोदी का ‘मरहम’,

पश्चिम बंगाल को PM मोदी का ‘मरहम’,

Exclusive News
कोरोना काल में बंगाल बेहाल है और अब इसका जायजा लेने के लिए पीएम मोदी कोलकाता पहुंचे। 83 दिन बाद नरेंद्र मोदी की ये यात्रा हुई। जिसके बाद पीएम मोदी बसीरहाट इलाके का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम मोदी का स्वागत किया। इस दौरान ममता बनर्जी के साथ पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर और सिंचाई मंत्री भी साथ मौजूद थे। बता दें कि ममता बनर्जी ने ही प्रधानमंत्री से बंगाल आकर हालात का जायजा लेने की अपील की थी। हर मुश्किल घड़ी में हर भारतवासी के साथ खड़े रहने वाले मोदी आज 83 दिन बाद प्रधानमंत्री निवास से बाहर निकलते हुए बंगाल पहुंचे। दो दिनों से अम्फान तूफान से पश्चिम बंगाल के कई इलाके क्षतग्रस्त हुए हैं। जिसके बाद पीएम मोदी का दौरा किया है।
नेपाल के नए नक्शे को भारत ने किया खारिज

नेपाल के नए नक्शे को भारत ने किया खारिज

Exclusive News, देश – विदेश
देश–विदेश (DiD News):  नेपाल द्वारा अपने नये राजनीतिक नक्शे में लिपुलेख, लिम्पियाधुरा और कालापाली को अपने क्षेत्र में प्रदर्शित किये जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारत ने बुधवार को कहा कि इस तरह से क्षेत्र में कृत्रिम विस्तार के दावे को स्वीकार नहीं किया जायेगा। भारत ने इस तरह के अनुचित मानचित्रण से पड़ोसी देश को बचने को कहा। भारत की यह प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई है जब नेपाल सरकार ने अपने संशोधित राजनीतिक एवं प्रशासनिक नक्शे में लिम्पियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी को अपने क्षेत्र के तहत प्रदर्शित किया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘ इस तरह का एकतरफा कार्य ऐतिहासिक तथ्यों और साक्ष्यों पर आधारित नहीं है। यह द्विपक्षीय समझ के विपरीत है जो राजनयिक वार्ता के जरिये लंबित सीमा मुद्दों को सुलझाने की बात कहता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसे कृत्रिम तरीके से क्षेत
दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थकेयर प्रोग्राम बना आयुष्मान भारत

दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थकेयर प्रोग्राम बना आयुष्मान भारत

Exclusive News, देश – विदेश
 देश–विदेश (DiD News): आयुष्मान भारत, जैसा कि इस योजना के नाम से ही इसके उद्देश्य ज्ञात हो जाता है। भारतीय परंपरा में जब भी बड़े-बुजुर्ग किसी को आशीर्वाद देते हैं तो कहते हैं - आयुष्मान भव:, यानी कि सेहतमंद रहने और लंबी आयु का आशीर्वाद। आयुष्मान भारत योजना का उद्देश भी इसके बिल्कुल समान है, यानि भारतवासियों की स्वास्थय का ध्यान रखना और उनकी लंबी आयु की कामना। यह हर भारतीय के लिए गर्व का क्षण है क्योंकि आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है। जिसकी जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दी है।
ऑफिस में कोविड-19 केस पर स्वास्थ्य मंत्रालय का निर्देश

ऑफिस में कोविड-19 केस पर स्वास्थ्य मंत्रालय का निर्देश

Exclusive News, दिल्ली / एनसीआर
Exclusive News (DiD News):  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के एक या दो मामले आने पर कार्यालय के समूचे भवन को बंद करने की जरूरत नहीं होगी और निर्देशों के तहत संक्रमणमुक्त बनाने के बाद काम बहाल किया जा सकता है। कार्यस्थल पर कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपायों पर दिशानिर्देश में कहा गया है कि हालांकि बड़े स्तर पर मामले सामने आने पर समूची इमारत को 48 घंटे के लिए बंद किया जाएगा। इमारत को संक्रमण मुक्त बनाए जाने और फिर से इसे काम बहाली के लिए उपयुक्त घोषित किए किए जाने तक सभी कर्मचारी घर से काम करेंगे। मंत्रालय के दस्तावेज में कार्यस्थल पर कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए एहतियाती उपायों को रेखांकित किया गया है। इसमें कहा गया है कि बुखार जैसी स्थिति में किसी भी कर्मचारी को कार्यालय नहीं आना चाहिए और स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों से चिकित्सा सलाह
पी चिदंबरम का राहत पैकेज पर वार

पी चिदंबरम का राहत पैकेज पर वार

Exclusive News, राजनीति
राजनीति (Time TV News): केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम निराश हैं। उन्होंने  कहा कि हम इस पैकेज पर निराशा व्यक्त करते हैं, सरकार से प्रोत्साहन पैकेज पर पुनर्विचार करने का अनुरोध करते हैं। चिदंबरम ने कहा कि हम इस बात पर गहरा खेद व्यक्त करते हैं कि राजकोषीय प्रोत्साहन पैकेज में कई वर्गों को बेसहारा छोड़ दिया गया है। बता दें  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लगातार पांच तक दिन कई इस 20 लाख करोड़ के पैकेज के तहत कई अहम घोषणाएं कीं। केंद्र की इस आर्थिक पैकेज को कांग्रेस ने पहले ही धोखा करार दिया है।वहीं अब पी चिदंबरम ने इसकी आलोचना करते हुए कहा कि राजकोषीय प्रोत्साहन जीडीपी के 0.91% की राशि 1,86,650 करोड़ रुपये है। आर्थिक संकट की गंभीरता को देखते हुए यह पूरी तरह से अपर्याप्त है। सरका
आरोग्य सेतु ऐप को लेकर सरकार ने जारी किया नया दिशानिर्देश

आरोग्य सेतु ऐप को लेकर सरकार ने जारी किया नया दिशानिर्देश

Exclusive News
Exclusive News (DiD News): लॉकडाउन के चौथे चरण के दिशानिर्देशों में सरकार ने आरोग्य सेतु ऐप से जुड़े नियम को सरल बना दिया है। सरकार ने इस ऐप को डाउनलोड करने की अनिवार्यता खत्म करके इसे वैकल्पिक कर दिया है। आरोग्य सेतु ऐप को कोरोना वायरस संक्रमण की निगरानी के लिए विकसित किया गया है। गृह मंत्रालय के रविवार को जारी नए दिशानिर्देशों में सरकार ने ऐप के फायदों पर विशेष जोर दिया है। सरकार ने कहा कि यह ऐप कोरोना वायरस के संभावित जोखिम का पहले से पता लगाने में मदद करता है। यह व्यक्तियों और समाज के सुरक्षा कवच की तरह है। नए दिशानिर्देशों के मुताबिक, ‘‘कार्यालयों और कार्यस्थलों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए नियोक्ताओं को सभी कर्मचारियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप को डलवाना सुनिश्चित करने के प्रयास करने चाहिए।’’ जबकि इससे पहले एक मई को जारी दिशानिर्देशों में सरकार ने सभी कर्मचारियों के