केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस में कमियां ढूंढना मुश्किल – सिसोदिया

राष्ट्रीय राजधानी के उपमुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गुजरात भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि गुजरात भाजपा का प्रतिनिधिमंडल अलग मंशा के साथ यहां पर आया था और उनकी नीयत खराब थी। हालांकि उन लोगों ने जिन-जिन मोहल्ला क्लीनिक और स्कूल का दौरा किया है, उन्हें कुछ तो अच्छा दिखा होगा।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात के कुछ भाजपा के नेता दिल्ली के स्कूल और अस्पतालों में कमियां निकालने के लिए बुलाए गए थे। केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस से आज वो लोग घबराए हुए हैं। मुझे बहुत खुशी है कि गुजरात का प्रतिनिधिमंडल राज्य में आया। इसी तरह सभी राज्यों के प्रतिनिधियों को एक दूसरे के राज्यों में जाना चाहिए। एक दूसरे से सीखना चाहिए, समझना चाहिए। कहीं कमी हो तो वो भी बताना चाहिए। मैं इसे एक अच्छी शुरुआत मानता हूं।

इसी बीच उन्होंने कहा कि गुजरात भाजपा के प्रतिनिधिमंडल का हम फिर से स्वागत करेंगे अगर वो फिर से आना चाहते हैं। इसके साथ ही हम चाहेंगे कि हमारा प्रतिनिधिमंडल भी वहां जाए और जैसे कि हमने उनसे कहा था कि आप दिल्ली के जिस कोने में चाहो, जिस स्कूल में चाहो हम वहां पर आपका स्वागत करेंगे लेकिन उन्हें कुछ नुक्श निकालने थे तो वो निकले। उन्होंने कहा कि हमारा प्रतिनिधिमंडल भी वहां (गुजरात) जाएगा।

मनीष सिसोदिया ने कहा कि मैं इसे एक अच्छी शुरुआत के तौर पर देखता हूं। मैं देखता हूं कि राजनीतिक पार्टियों और सरकारों में मुकाबला भी होना चाहिए और आपस में सीखने की परंपरा भी होनी चाहिए। यहां पर गुजरात के साथ-साथ दूसरे राज्यों के प्रतिनिधिमंडल आते हैं, हम उन्हें सबकुछ दिखाते हैं।

उन्होंने कहा कि वो अलग मंशा से यहां पर आए थे और उनकी नियत खराब थी। इसके बाद भी वो लोग जिन-जिन मोहल्ला क्लीनिक और स्कूल में गए हैं, वहां पर उन्हें कुछ तो अच्छा दिखा होगा तो कुछ तो नया सीखा होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रतिनिधिमंडल को समझ में आया होगा कि केजरीवाल मॉडस ऑफ गवर्नेंस में कमिया ढूढना मुश्किल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.