निर्भया का नाम लेकर रेप पर ये क्या बोल गए CM गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रेप को लेकर एक विवादित बयान दे दिया है। अशोक गहलोत ने फांसी की सजा की वजह से रेप के बाद हत्या के मामले बढ़े हैं ऐसी बात कही है। गहलोत ने कहा है कि गवाही न दे इसलिए आरोपी पीड़िता की हत्या कर देते हैं। गहलोत के इस बयान को लेकर विवाद मच गया। बीजेपी ने राजस्थान के सीएम के इस विवादित बयान को गैर-ज़िम्मेदाराना बताया है। साथ ही कहा है कि ये महिलाओं के प्रति उनकी अपमान वाली मानसिकता को दर्शाता है। अशोक गहलोत रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि निर्भया कांड के बाद रेप के लिए फांसी की सजा तय किए जाने किए जाने से यह ट्रेंड बढ़ गया है। हालांकि, इस दौरान वो निर्भया का नाम भी भूल गए और 2-3 बार अभया केस बोल गए। आसपास बैठे लोगों ने उन्हें निर्भया का नाम याद दिलाया। गहलोत ने कहा कि  रेप हो रहे हैं बच्चियों के साथ में, जब से कर दिया है कि उनको फांसी की सजा मिलेगी, अभया… अभया, अभया कांड जो…. निर्भया कांड में कर दिया कि आपको फांसी की सजा मिलेगी, उसके बाद से हत्याएं बहुत ज्यादा होने लगीं बच्चियों की। रेप करने वाला देखता है कि यह गवाह बन जाएगी मेरे खिलाफ, वे रेप भी करते हैं, और हत्या भी कर देते हैं।बीजेपी ने प्रियंका गांधी की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं। बीजेपी के शहजाद पूनावाला ने ट्वीट किया कि गहलोत बलात्कारियों को नहीं सख्त बलात्कार कानूनों को दोषी मानते हैं! कहते हैं कि बलात्कार से संबंधित हत्याएं निर्भया के बाद कानूनों को सख्त करने के बाद बढ़ीं! ऐसा पहला बयान नहीं है! उन्होंने यह भी कहा कि बलात्कार के ज्यादातर मामले फर्जी हैं! प्रियंका जी चुप हैं? भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का एक गैर-ज़िम्मेदार बयान आया जिसमें उन्होंने कहा कि राजस्थान में हत्याएं इसलिए बढ़ रहे हैं क्योंकि बलात्कार के लिए फांसी की सजा है। ये महिलाओं के प्रति उनकी अपमान वाली मानसिकता को दिखाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.