भारत में बढ़ा मंकीपॉक्स का खतरा, केरल में 22 वर्षीय संक्रमित युवक की मौत

कोरोना वायरस के बाद देश-दुनिया में मंकीपॉक्स का खतरा बढ़ता जा रहा है। इन सब के पीछे बड़ी खबर केरल से है। केरल में मंकीपॉक्स से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत हो गई है। व्यक्ति की उम्र 22 वर्ष है और वह यूएसई लौटा था। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि एक युवा लड़का 22 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात से लौटा, वह अपने परिवार के साथ था जब 26 जुलाई को उसे बुखार हुआ और उसे 27 जुलाई को भर्ती कराया गया। 28 जुलाई को उसे वेंटिलेटर पर ले जाया गया। उन्होंने 19 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात में मंकीपॉक्स के लिए परीक्षण किया, जिसका परिणाम सकारात्मक था। 3वीना जॉर्ज ने आगे बताया कि 30 जुलाई को उस व्यक्ति की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग की टीमें वहां गईं, सैंपल एनआईवी भेजे गए, जांच के नतीजे बताते हैं कि वह मंकीपॉक्स पॉजिटिव था। टीम गठित की गई और एनआईवी में जीनोमिक अनुक्रमण की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रोटोकॉल के अनुसार, उच्च जोखिम वाले 20 लोगों की पहचान की गई है, जिन्हें निगरानी में रखा गया है। इनमें परिवार के सदस्य, दोस्त और चिकित्सा कर्मचारी शामिल हैं जो मृतक के संपर्क में आए होंगे। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने रविवार को कहा था कि स्वास्थ्य विभाग युवक की मौत के कारणों का पता लगाएगा। उन्होंने कहा था कि रोगी युवा था और वह किसी अन्य रोग या स्वास्थ्य समस्या से ग्रस्त नहीं था।इन सब के बीच देश में मंकीपॉक्स के मामलों पर नजर रखने और संक्रमण की रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले कदमों के संबंध में निर्णय लेने के वास्ते एक कार्यबल का गठन किया गया है। कार्यबल के गठन का निर्णय देश में चल रही जनस्वास्थ्य संबंधी तैयारियों की समीक्षा के लिए 26 जुलाई को आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया था। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी के पॉल इस कार्यबल की अगुवाई करेंगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने हाल में मंकीपॉक्स को वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है। वैश्विक स्तर पर, 75 देशों में मंकीपॉक्स के 16,000 से अधिक मामले पाए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.