लद्दाख में रहने वाले लोग भी हुए चीन की चाल से परेशान

देश – विदेश (DID News): दो साल से भी ज्यादा वक्त से भारत और चीन के बीच जारी लद्दाख बॉर्डर पर तनातनी के बीच अब भारत की डिफेंस फोर्सज को चीन की ओर से एक ऐसी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिसके समाधान के लिए भारत की तरफ से बड़ा कदम उठाया जा सकता है। दरअसल, ये समस्या है चीन का 5जी नेटवर्क जिसने भारत की फौजों के कम्युनिकेशन में भारी दिक्कत पैदा कर दी है। समाचार पत्र न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक लद्दाख में भारत और चीन की सीमा यानि एलएसी के करीब अपने इलाकों में चीन ने 5जी नेटवर्क का विस्तार कर दिया है।

जिसकी वजह से भारतीय सेना के कम्युनिकेशन में भारी दिक्कत पैदा हो रही है। भारतीय फौजों को कम्युनिकेशन के दौरान अपने वायरलेस और उसके जैसे डिवाइस में एक अजीब सी आवाज सुनाई दे रही है। जिसकी वजह है चीन के 5जी नेटवर्क की तरंगें जो उसने बॉर्डर के इलाके में फैला दिया है। चीन की ये चाल इमरजेंसी के हालात में भारतीय फौजों के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकती है। बता दें कि लद्दाख के 12 गांव में से 10 गांव में 4जी नेटवर्क नहीं है। कुछ गांव में तो 2जी नेटवर्क तक नहीं है, लेकिन चीन ने यहीं पर 5जी टावर लगा दिए हैं। इसके अलावा मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन ने अपनी साइड में पैंगोंग लेक पर 2 पुल बनाए हैं। इससे चीन की सेना की एक्सेस काफी बढ़ जाएगी।

17 जुलाई को होगी 16वें दौर की वार्ता 

पूर्वी लद्दाख में सीमा पर मौजूद गतिरोध को दूर करने के लिए भारत और चीन के बीच 16नें दौर की सैन्य वार्ता 17 जुलाई को होगी। भारत पूर्वी लद्दाख में टकराव वाले सभी स्थानों से सैनिकों की शीघ्र वापसी पर जोर दे रहा है और उसका स्पष्ट रूप से कहना है कि समग्र द्विपक्षी संबंधों में प्रगति के लिए सीमा पर शांति व स्थिरता पूर्व शर्त है। 16वें दौर की वार्ता 17 जुलाई को भारतीय क्षेत्र में चुशुल-मोल्डो बैठक स्थल पर होगीा

Leave a Reply

Your email address will not be published.