Umesh Pal Hatyakand: कभी विदेशी कुत्ते से मिलवाया था मुलायम सिंह का हाथ

माफिया अतीक अहमद की जर्मन ग्रेट डेन नस्ल की कुतिया ब्रूनो की शुक्रवार को भूख-प्यास से मौत हो गई। इसी के साथ अतीक के इसी नस्ल के एक कुत्ते की मुलायम सिंह यादव से हाथ मिलाते हुए तस्वीर वायरल हुई है। कहा गया कि कभी अतीक का इतना रसूख था कि घर आए नेताजी तक से अपने कुत्ते का हाथ मिलवा दिया था।

आज उसके विदेशी कुत्तों को रिश्तेदार और पड़ोसी तक खाना देने को नहीं है। ब्रूनो कुछ दिन से बीमार थी। उन्य चार कुत्तों की भी हालत खराब है। मुलायम सिंह और अतीक की वायरल तस्वीर 1989 की बताई जा रही है।

कैप्शन लिखा गया है, ‘वक्त-वक्त की बात है…’ हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं है कि यह फोटो कब की है, लेकिन मुलायम सिंह यादव मुस्कुराते हुए अतीक के कुत्ते से हाथ मिलाते हुए दिख रहे हैं। वह कुत्ता भी ग्रेट डेन नस्ल का ही था।

बिल्डर ने अतीक को गिफ्ट किए थे विदेशी नस्ल के कुत्ते
सूत्रों के मुताबिक, मुंबई के एक बिल्डर ने अतीक को विदेशी नस्ल के पांच कुत्ते गिफ्ट किए थे। अतीक ने घर के ही एक हिस्से में हाता बनवाया था। गर्मी न लगे, इसलिए कूलर तक लगवाया गया था। कुत्तों को दोनों पहर मीट दिया जाता था।कुत्तों के पौष्टिक रेडीमेड भोजन के एक पैकेट की कीमत दो हजार रुपये से शुरू होती है। 24 फरवरी को उमेश पाल की हत्या के बाद असद और शाइस्ता फरार हो गए।

नाबालिग दोनों बेटों को भी बाल सुधार गृह पहुंचा दिया गया। इस बीच सबसे ज्यादा दुर्गति इन पांचों कुत्तों की हुई। इन्हें अतीक के पुराने जमींदोज घर के एक हिस्से में रखा है। सुबह शाम मीट खाने वाले कुत्ते रोटी के लिए भी तरसने लगे।
कुत्तों को रोटी पसंद नहीं
आसपास के लोगों के मुताबिक कुछ लोग नजर बचाकर रोटी फेंक दिया करते थे, लेकिन रोटी उन्हें पसंद नहीं। फिर, जिस मात्रा में उन्हें खाना चाहिए, वह भी नहीं मिल पा रहा। भूख प्यास से तड़पते कुत्ते दिन रात भौंकते रहते हैं। शुक्रवार को एक कुत्ते ब्रूनो की मौत हो गई। अन्य चारों कुत्तों की भी हालत गंभीर बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *